2015-05-04

भँवरलाल चौहान संजित ,bhanwar lal chouhan addresses darji sammelan shamgarh

भँवरलाल चौहान संजित
 दामोदर दर्जी सम्मेलन शामगढ़
इयर 2014

khushbu-aashish dance.AVIआर्टिस्ट खुशबू एण्ड आशीष चौहान

tere mast mast di nain तेरे मस्त मस्त दो नैन आर्टिस्ट खुशबू एण्ड आशीष चौहान पूराबा के परिवार मे शादी के मौके पर डांस संगीत संध्या evening show Shamgarh

2015-05-01

दर्जी सामूहिक विवाह सम्मेलन,शामगढ की विडियो क्लिप

darji samuhik vivah sammelan shamgarh year 2014, sammelan kee video clip शामगढ़ सम्मेलन की विडियो क्लिप (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

दर्जी सम्मेलन शामगढ़ की एक विडियो झलक


darji mass marriage function ,Shamgarh



भंवर लाल चौहान    दर्जी सम्मेलन शामगढ में माईक  पर बोल रहे हैं-
 https://youtu.be/MLQzJsL8_wI



https://www.youtube.com/watch?v=MLQzJsL8_wI&feature=youtu.be





darji mass marriage  function ,shamgarh -

दर्जी सम्मेलन शामगढ (विडियो)

2015-04-28

श्री रमेश चंद्र राठौर "आशुतोष" एक जन सेवा को समर्पित व्यक्तित्व



                                                                   

 


 
सेवा ही जिनका जज्बा है|इन्होने जीवन का आधा समय सेवा को समर्पित कर दिया | पहिले सालों में मुक्ति धाम महकाया |अब  गायत्री मंदिर में लोगों का स्वास्थय सुधारने में लगे हैं|कई तरह के औषधीय  जूस ये मंदिर के माध्यम से लोगों को उपलब्ध कराते हैं| ये हैं नगर के रमेश चंद्र राठौर उम्र ६२ वर्ष
|

करीब २१ वर्ष से ये सामाजिक सरोकार के कार्यों और जन  -   सेवा  में जुटे हैं|इनकी  दिन चर्या सुबह  ५ बजे से शुरू होती है| सबसे पहिले सगोरिया रोड स्थित माँ गायत्री  के मंदिर पहुँचते हैं|यहाँ हर्बल गार्डन में आने वाले लोगों के लिए साथी गण ओम प्रकाश जी राज गुरू,कृष्ण वल्लभ जी श्री वास्तव,राजू छाबडा जी  ,भंवर लाल  जी  फल्सावदिया ,नारद राम जी यदुवंशी आदि के सहयोग से विभिन्न  औषधीय जूस  बनाते हैं और लोगों को देते हैं|यह भी बताते हैं कि किस जूस के पीने से क्या लाभ होते हैं| उससे कौन कौन सी बीमारियाँ ठीक हो सकती हैं|वे लोगों को योग एवं  आहार संबंधी जानकारी भी देते हैं| सत् साहित्य भी उपलब्ध कराते हैं |

 
पिता  की मौत ने दी प्रेरणा-     १९९३ में रमेश चंद्र जी के पिता का देहांत  हो गया उस समय बारीश का समय था| दाह संस्कार संपन्न करने के लिए सूखी लकडीयां  ना होने से परेशानी हुई\  लोगों के लिए बारीश से बचने की जगह भी नहीं थी|  उसी दिन से आशुतोष जी  ने








 मुक्ति धाम -       को संवारने  और जरूरी सुविधाएं   और व्यवस्थाएं  करने का प्रण लिया और इस दिशा में कार्य करने  में जुट गए| धीरे धीरे अन्य  लोगों का भी सहयोग मिलता गया और काफिला लंबा होता चला गया| मुक्ति धाम विकास समिति बनाकर मुक्ति धाम का भूमि पूजन संपन्न किया| यहीं से  सेवा का सफर शुरू हुआ|





  दो साल तक खंगाले रिकार्ड_ | मुक्ति धाम निर्माण और विकास के दौरान उन्हें  इस बात की जानकारी भी मिली कि  किसी को भी आसानी से मृत्यु प्रमाण पत्र  नहीं मिलता|  अत: ये दो साल तक नगर में घर घर घुमे  और मरने वाले लोगों की जानकारी इकट्ठी  कर नगर परिषद  कार्यालय में देते रहे| इसके बाद से नगर परिषद ने मुक्ति धाम की रसीद के आधार पर म्रत्यु प्रमाण पत्र  देना शुरू  कर दिया .


विशिष्ट  सेवाएं भी देते हैं -शामगढ़  नगर चिकित्सा सेवाओं के मामले में पिछडा रहा है\ लोगों को अच्छा ईलाज मिले  इसके लिए आप ने भवानी मंडी  के नून अस्पताल के डॉ. पुरोहित   को लाकर   अपने सगोरिया रोड स्थित कंचन गंगा भवन में  चिकित्सा केंद्र  स्थापित किया था| डॉ.पुरोहित ने लोगों को उच्च  कोटि की चिकित्सा  उपलब्ध कराई||  नगर में होने वाले सामाजिक कार्यों जैसे सामूहिक विवाह आदि में भी
आपका  करिश्माई  नेतृत्व  और सहयोग   मिलता रहा है  और


आशुतोष जी  समाज द्वारा समय -समय  पर  सम्मानित  होते रहे हैं||


2015-04-19

दर्जी विवाह सम्मलेन शामगढ़ का वीडियो


दर्जी सामूहिक विवाह सम्मेलन  शामगढ  को डॉ.दयाराम आलोक  संबोधित कर रहे हैं.








दामोदर दर्जी सन्देश : damodar darji sandesh: दर्जी विवाह सम्मलेन शामगढ़ का वीडियो



हरदीप डंग का भाषण दर्जी सम्मेलन में(विडियो)

अखिल भारतीय दामोदर दर्जी महासंघ के बेनार तले दर्जी समाज के सामूहिक विवाह सम्मेलन मे विधायक हरदीप सिंह डंग उपस्थित दर्जी बंधुओं को संबोधित करते हुए



2015-02-17

दामोदर दर्जी महासंघ को हाई जेक करने का षड़यंत्र!// Conspiracy to make Damodar Tailor Mahasangha High Jake!



                                                              श्री गुरू  दामोदराय नम;

       
आदरणीय दामोदर वंशीय   नये  गुजराती दर्जी बंधुओं,
   विदित हो कि  अखिल  भारतीय दामोदर दर्जी महासंघ  का गठन  डॉ. दयाराम आलोक  के  नेतृत्व में  सन १९६४  ई. में  राठौर भवन  शामगढ़  में सम्पूर्ण दर्जी समाज  के  आमंत्रित  दर्जी बंधुओं  की बैठक  में किया गया था|
  इस बैठक में संघ के पदाधिकारियों  का सर्वानुमति  से  निर्वाचन  किया गया | संघ का संविधान  डॉ. दयाराम आलोक द्वारा लिखा गया  जिसमें जरूरी संशोधन स्वर्गीय   डॉ..लक्ष्मी नारायण जी अलोकिक  द्वारा किये गए| संविधान  छपवाकर  उसकी प्रतिया.  समाज में वितरित की ग्र्ईं|  अपने शैशव काल में  यह संस्था  "दामोदर युवक संघ' के नाम से जानी जाती थी|  सन  १९८०  में "दामोदर दर्जी युवक संघ"  का  टाईटल    "अखिल  भारतीय दामोदर दर्जी  संघ " किया गया |

   
गठन के बाद से ही  महासंघ  सामाजिक  कार्यों को  सुचारू रूप से  संपन्न करने  में जुट गया |  इस संस्था ने १९६६ में दर्जी समाज के डग स्थित मंदिर  में  मूर्ती  स्थापना  याने  उद्द्यापन का कार्य  डग के दर्जी बंधुओं  द्वारा डॉ. आलोक  को यह कार्य  लिखित  प्रस्ताव






के माध्यम  से सुपर्द  करने  के बाद  संपन्न किया|| दर्जी  बंधुओं से चन्दा  युवक संघ की रसीदों पर एकत्र किया गया  था|












    दामोदर युवक संघ की  रसीद बुकों  पर एकत्रित की  गयी राशि  श्री कन्हैया लाल जी  टेलर  डग  को  उद्यापन अनुष्ठान  और सामाजिक  भोज  के लिए  दी गयी  थी|
   संघ के संविधान के मुताबिक़  संघ  संचालन की  अधिकाँश  शक्तियां  संचालक  याने डायरेक्टर  में निहित हैं|  कोइ  भी  खर्च करने से पहिले संचालक  अध्यक्ष  से अनुमति लेता है|  खर्च का अधिकार  सिर्फ संचालक  को ही है| \ कोषाध्यक्ष का  काम संघ  के कोष का हिसाब  रखने और  समय समय पर  हिसाब संचालक  और अध्यक्ष  को देना है|

    संघ के प्रथम अधिवेशन  १९६४  में  निम्न  व्यक्तियों को सर्वानुमति  से निर्वाचित किया गया |

  १)  अध्यक्ष -  स्वर्गीय  श्री  राम चंद्र जी  सिसोदिया  शामगढ

२) संचालक :  डॉ.दयाराम जी आलोक  शामगढ़

३) श्री प्रभुलाल जी सोलंकी  शामगढ

३)  कोषाध्यक्ष:  श्री  सीताराम जी संतोषी  शामगढ़


महासंघ के बेनर तले  सामूहिक विवाह  का श्री गणेश  सन १९८१ में  रामपुरा नगर में   किया गया |








दूसरा सम्मलेन भी रामपुरा  में  १९८३ में किया गया |





दामोदर दर्जी महासंघ के  बेनर तले  तीसरा  सामूहिक विवाह  सम्मलेन  शामगढ़ नगर में 1991  में आयोजित किया गया | सम्मलेन अध्यक्ष  श्री भेरूलाल जी राठौर  थे|








     इसके बाद  दामोदर दर्जी महासंघ  का चौथा  और सकल समाज का नवां  सम्मलेन  डॉ. दयाराम जी  आलोक की अध्यक्षता में  बोलिया नगर में 2006 में आयोजित किया गया\ सन २००८ में  बोलया  में  पांचवा  सामूहिक विवाह  भी डॉ आलोक जी की अध्यक्षता में संपन्न  हुआ|


सन २०१०  में डॉ.आलोक जी  द्वारा  स्व खर्च पर  निशुल्क  सामूहिक विवाह सम्मेलन  आयोजित किया \  इस सम्मलेन का कुल खर्च तीन लाख पचास हजार  रूपये   हुआ था|

  सम्मलेन की शृंखला  को विस्तार  देते हुए  दामोदर दर्जी महा संघ  ने  शामगढ़ नगर में सन २०१२  और २०१४ में  सातवा और आठवाँ  सामूहिक विवाह सम्मलेन आयोजित किये|

      सामाजिक कार्यों  के प्रति समर्पित व्यक्तित्व   श्री रमेश चंद्र जी आशुतोष  राठौर  ने दर्जी समाज के परिवारों  की जानकारी  एकत्र  कर  ,संपादन कर  तीन महत्त्व पूर्ण  ग्रन्थ  प्रकाशित किये|  तीसरा ग्रन्थ " समाज-सेतु  २०१४ " नाम से  दामोदर दर्जी महासंघ  के जवाहर  मार्ग स्थित कार्यालय  शामगढ़  से प्रकाशित किया गया|

    दामोदर दर्जी महासंघ  की समाज हितैषी  उपलब्धियों   के प्रति  समाज  का एक ईर्ष्यालू  समूह  नकारात्मक  सोच रखने लगा| |    बाबा  बवंडर  नाथ इस  प्रतिगामी  गुट  की अगुआई   कर रहे हैं| ये लोग महासंघ  की तर्ज पर अलग से  कोइ नया  संगठन  बनाकर काम करने  का  सामर्थ्य  तो रखते नहीं  | इसलिये  ५० वर्षों से  निरंतर समाज सेवा में  तत्पर  दामोदर दर्जी महासंघ को ही हाई  जेक  करने के लिए  पेपर बाजी कर रहे हैं| उन्हें समझना होगा कि हवा बाजी  और   पेपर बाजी   से  संगठन  नहीं चला करते  |  समाज के  प्रति त्याग  और  समर्पण की भावना जरूरी  है|




      | 

2015-01-26

दामोदर दर्जी समाज की महा बैठक के सामाजिक निर्णय



दामोदर दर्जी समाज की महा बैठक  ( २०-१-२०१५ )  में समाज सुधार के  कई निर्णय लिए गए|  सभी निर्णय  एक पर्चे  में छपवाकर  समाज में वितरित किये गए.